भारत के शीर्ष 5 प्रेरक वक्ता – Interesting Facts, Information in Hindi

दुनिया में कई लोगो के जीवन में सेल्फ मोटिवेशन होता है। परन्तु कुछ लोग बाहरी प्रेरकों से, प्रेरित होकर अपने लक्ष्यों को प्राप्त करते हैं। आज हम ऐसे ही कुछ प्रेरकों के बारे में आपको बताने जा रहे है जिनकी वजह से बहुत से लोगो के जीवन में बदलाव आया है।

सिमरजीत सिंह

सिमरजीत सिंह एक युवा  प्रेरक वक्ता और सफल कोच हैं। सबसे पहले उन्होंने होटल उद्योग में काम करना शुरू किया और होटल प्रबंधन में डिग्री प्राप्त की। उन्होंने भारत, दुबई और यहां तक कि अमेरिका में भी काम किया।

परन्तु कुछ समय के बाद उन्होंने अपना रास्ता बदलने का फैसला किया और यात्रा शुरू कर दी एक प्रेरक वक्ता बनने की। उन्होंने100 से अधिक कंपनियों में 1000 से अधिक प्रेरित भाषण दिए हैं। एक प्रेरक वक्ता के रूप में उन्होंने वोडाफोन, नोवार्टिस और यहां तक कि टाटा जैसी कंपनियों के साथ भी काम किया है और दुबई, भारत के अलावा संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के विभिन्न हिस्सों में सेमिनार किए हैं।

डॉ विवेक बिंद्रा

डॉ विवेक बिंद्रा भारत के सर्वश्रेष्ठ प्रेरक वक्ताओं में से एक हैं। वह एक सफल उद्यमी, बिजनेस कोच और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित प्रेरक वक्ता हैं। वह भारत के एक प्रसिद्ध व्यक्तित्व हैं l जब बड़े पैमाने पर लोगों को प्रेरित करने की बात आती है तो डॉ विवेक बिंद्रा का नाम सबसे पहले आता है। डॉ विवेक बिंद्रा बडा व्यापार के संस्थापक और सी ई ओ हैं। डॉ विवेक बिंद्रा 10 हाई पावर मोटिवेशनल बुक्स के लेखक भी हैं। उनके यूट्यूब चैनल पर उनके लगभग 11 मिलियन सब्सक्राइबर्स हैं l

विवेक बिंद्रा के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि वे नियमित रूप से यूट्यूब पर अद्भुत सामग्री और केस स्टडीज के साथ आते हैं। क्यूंकि  वह दुनिया के सबसे ज़्यादा सब्सक्राइबर एंटरप्रेन्योरशिप चैनल में से एक के मालिक है, वास्तव में वह दुनिया के सबसे अच्छे वक्ताओं में से एक है।

चेतन भगत

चेतन भगत एक भारतीय लेखक और प्रेरणादायक वक्ता हैं, जो अंग्रेजी भाषा में अपने बेहद ही प्रसिद्ध उपन्यासों के लिए जाने जाते हैं। उनका जन्म 22 अप्रैल 1974 को हुआ था। चेतन ने प्राइमरी लेवल की पढ़ाई सेना पब्लिक स्कूल से की और इसके बाद 1995 में आईआईटी दिल्ली से इंजीनियरिंग की डिग्री ली। चेतन ने 1997 में आईआईएम अहमदाबाद से MBA किया।

चेतन भगत सर्वाधिक बिकने वाले उपन्यासों के लेखक है, जिसमें फाइव पॉइंट समवन (2004), वन नाईट @ द कॉल सेंटर (2005), द 3 मिस्टेक्स ऑफ़ माय लाइफ (2008), 2 स्टेट्स (2009), रेवोलुशन 2020 (2011), व्हाट यंग इंडिया वांट्स (2012), हाफ गर्लफ्रेंड (2014) और मेकिंग इंडिया ऑसम (2015) शामिल है l

उनकी किताबों में से 4 पर तो बॉलीवुड फिल्म भी बनाई गयी है, उन फिल्मों के नाम 3 इडीयट्स, काई पो चे!, 2 स्टेट्स और हेल्लो है l

उनके प्रेरक सेमिनार आमतौर पर युवाओं को लक्षित करते हैं और उन्हें  प्रेरित करने के लिए होते हैं। उन्हें नियमित रूप से भारत में शीर्ष इंजीनियरिंग और प्रबंधन कॉलेजों के साथ-साथ उन कंपनियों द्वारा बोलने के लिए आमंत्रित किया जाता है जो अपने कर्मचारियों को प्रेरित करना चाहते हैं।

संदीप माहेश्वरी

यूट्यूब पर 13 मिलियन से अधिक फोल्लोवेर्स के साथ, संदीप माहेश्वरी भारत में शीर्ष प्रेरक वक्ताओं में से एक है। इस प्रेरक वक्ता की एक बहुत ही प्रेरणादायक कहानी है l संदीप माहेश्वरी एक मध्यम वर्गीय परिवार में पैदा हुए थे l संदीप माहेश्वरी ने कॉलेज में एक मॉडल के रूप में काम करना शुरू कर दिया। तब उन्होंने महसूस किया कि कैसे मॉडल का शोषण किया जाता है l संदीप माहेश्वरी उनकी मदद करना चाहते थे।

उन्होंने एक फोटोग्राफी सत्र शुरू किया जिसमें वे फ़ोटो शूट किया करते थे। उनके कई शुरुआती कारोबार विफल रहे l आखिरकार 26 साल की उम्र में उन्होंने इमेज बाजार की स्थापना करके सफलता हासिल की l इमेज बाजार भारतीय वस्तुओं और व्यक्तियों का चित्र सहेजने वाली सबसे बड़ी ऑनलाईन साइट है l

माहेश्वरी के जीवन संघर्ष ने उन्हें  दूसरों की मदद करने और एक प्रेरक वक्ता बनने के लिए प्रेरित किया। उनका मानना है कि जीवन में कुछ भी मुश्किल नहीं है, कठिनाई धीरे-धीरे  दूर जाती है, जैसे ही आप कार्य करना शुरू करते  हैं

डॉ दीपक चोपड़ा

दीपक चोपड़ा मूल रूप से दिल्ली के हैं  वे एक प्रशिक्षित डॉक्टर थे और उन्होंने अमेरिका में एक डॉक्टर के रूप में सफलता पाई। जैसे-जैसे समय बीतता गया, दीपक चोपड़ा को आध्यात्मिकता में अपनी रुचि पाई और महर्षि महेश योगी के साथ ट्रांसेंडेंटल मेडिटेशन (टीएम) का अभ्यास किया।

कुछ समय के बाद उन्होंने डॉक्टर के रूप में काम करना बंद कर दिया और प्रेरक वक्ता  के रूप में कार्य करना शुरू कर दिया l दीपक चोपड़ा से ओपरा विनफ्रे, माइकल जैक्सन और हॉलीवुड में कई अन्य लोग बहुत प्रभावित हुए हैं। उनके विचारों, सेमिनारों और पुस्तकों से लाखों लोगो को लाभ हुआ है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *